मजहब के नाम पर मरती इंसानियत देख जामा मस्जिद में हुआ ये, तस्वीरें देखकर यक़ीन नहीं होगा

श में सत्तारूढ़ बीजेपी चुनाव नजदीक आने पर राम मंदिर का मुद्दा भुनाना शुरू कर देती है। यूं कहना गलत नहीं होगा कि बीजेपी ने राम मंदिर मुद्दे को इसी वजह से समेटे रखा है ताकि चुनाव आने पर इसके जरिये धर्म की राजनीति कर सके। लोकसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं और इससे पहले ही बीजेपी ने राम मंदिर का राग अलापना शुरू कर दिया है।

1. राम मंदिर पर फिर शुरू हुई बीजेपी की राजनीति
धर्म के ठेकेदार बनकर बैठे हिंदूवादी नेताओं को आदेश जारी कर दिए हैं कि वह राम मंदिर राजनीति को हवा देनी अभी से शुरू कर दें। हाल ही में विश्व हिन्दू परिषद के नेता ने राम मदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया था। लेकिन ये कितनी शर्मनाक बात है कि एक मंदिर जिसपर अभी सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना बाकी है, उसे बनाने के लिए गन्दी राजनीति की जा रही है। लेकिन दुनियाभर में मशहूर दिल्ली की जामा मस्जिद के हालात का जायजा लेने वाला कोई भी नहीं है।

2. जामा मस्जिद के गुंबदों में आई दरारे
जी हाँ, आपको बता दें कि इस वक़्त जामा मस्जिद की हालत काफी खस्ता होती जा रही है और अगर ये सिलसिला जारी रहा तो वो दिन दूर नहीं जब देश की जानी-मानी मस्जिद खंडर बन जाएगा। आपको बता दें कि बता दें कि दिल्ली की जामा मस्जिद का रख-रखाव ठीक तरह से नहीं किया जा रहा है। बीजेपी के राज में इस वर्ल्ड फेमस मस्जिद की हालत खराब होती जा रही है। आलम ये है कि जामा मस्जिद अंदर से खंडहर के रूप में दिखने लगी है। मस्जिदों के तीनों गुम्बदों और मीनारों में आ चुकी है।

3. भारत सरकार कर रही अनदेखी
इस मामले में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधिकारियों को भी खबर दी गई है। लेकिन उनके द्वारा अभी तक इस सिलसिले में कोई कदम नहीं उठाया गया है। हालांकि पर्यटकों के लिहाज से जामा मस्जिद खराब होती हालत पर दिल्ली एडवाइजरी काउंसिल ने गहरी चिंता जताई है।

4. जल्द ठीक न कराया तो मस्जिद बन सकती है खंडर
बताया जा रहा है कि जामा मस्जिद के गुंबद के अंदर लगे लाल पत्थर में कई जगहों पर करीब दो इंच से लेकर पांच इंच तक की कई दरारें नज़र आने लगी है। जिनमें बरसात के मौसम में पानी भी रिसने लगता है। गौरतलब है कि अगर जल्द ही जामा मस्जिद में गुंबदों की मुरम्मत जल्द न करवाई गई तो जल्द ही ये मस्जिद खंडर में तब्दील हो सकती है।

गौरतलब है कि बीजेपी की राम मंदिर और बाबरी मस्जिद राजनीति दशकों से चली आ रही है। लेकिन अल्पसंख्यकों की मांगों को बीजेपी हमेशा नज़रअंदाज़ किया जाता रहा है। अब ऐसा ही बीजेपी जामा मस्जिद के मामले में कर रही है।

सोर्स- http://viralinindia. net/politics-in-india/picture-leaked-of-zama-masjid/28294/

loading...